Thejantarmantar
Latest Hindi news , discuss, debate ,dissent

- Advertisement -

कर्नाटक चुनाव- चलो जाति जाति खेलें।

2,159

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Advertisement -

यूं तो जाति हरेक चुनाव में महत्वपूर्ण होती है हरेक राजनैतिक दाल अपने हिसाब से जातियों के समीकरणों फिट करता है लेकिन कर्नाटक चुनावों नें पहली बार हिंदुओं के बांटने के नाम पर राजनीति हुई है राज्य में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कड़ी टक्कर है। दोनों पार्टियों के मुखिया पिछले कुछ हफ्तों से राज्य में ताबड़तोड़ चुनावी दौरे कर रहे हैं। वोटरों को रोड शो और रैली के जरिए लुभाने के साथ-साथ राहुल गांधी और अमित शाह का मुख्य फोकस धार्मिक मठों, मंदिरों और जातियों के प्रमुखों से मिलना है। इनमें वोक्कालिगा, लिंगायत और कई अन्य समुदाय भी शामिल हैं। कर्नाटक चुनावों में बिजली, पानी, सड़क, बिजली, शिक्षा और जॉब जैसे विकास कार्य के मुद्दे पीछे छूट गए हैं बीजेपी और कांग्रेस के लिए विकास की जगह पर जाति और धर्म ही प्रमुख मुद्दे हैं । कांग्रेस पार्टी के लिंगायत और वीरशैव लिंगायतों को अल्पसंख्यकों का दर्जा देने फैसले के बाद कर्नाटक की राजनीति में उबाल आ गया था ।कर्नाटक में लिंगायतों की संख्या करीब 17 प्रतिशत है।कांग्रेस की ये चुनावी चाल भारतीय जनता पार्टी के लिए  कर्नाटक में भारी पड़ सकती है भाजपा के प्रवक्ता गोपाल कृष्ण अग्रवाल  कहते है कि कांग्रेस पतन की ओर अग्रसर है बांटो और राज करो की नीति पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए ओछी राजनीति पर उतर आई है। बता दें कि सिद्धारमैया सरकार की तरफ से लिंगायत समुदाय को अल्पसंख्यक दर्जा देने का प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया है, लेकिन केंद्र सरकार ने फिलहाल इस पर कोई फैसला नहीं लिया है।

वोक्कालिगा समुदाय भी दक्षिणी कर्नाटक में काफी अहम समुदाय है। राज्य की कुल आबादी का 8 प्रतिशत वोक्कालिगा की आबादी है । इस फैसले इस समुदाय के लोगों में सिद्धारमैया सरकार के खिलाफ नाराजगी है। और सिद्धारमैया को वोक्कालिगा की नाराजगी भारी पड़ सकती है ।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तुमकुर में सिद्धागंगा मठ का दौरा किया

आचार संहिता के अनुसार कोई भी राजनैतिक दल धर्म के आधार पर वोट नहीं मांग सकता है लेकिन फिर भी राहुल गांधी औऱ अमित शाह मंदिर औऱ मठों में लगातार जा रहे हैं। इस पर भाजपा के प्रवक्ता गोपाल कृष्ण अग्रवाल व्यंग करते हुए कहते हैंकि देखिए हम तो लगातार मंदिर में जाते रहे हैं लेकिन राहुल गांधी ने नया नया मंदिर जाना शुरू किया है इसलिए जनेउ को कुर्ते के ऊपर पहनते हैं।

- Advertisement -

गोपाल कृष्ण अग्रवाल , भाजपा , प्रवक्ता

- Advertisement -

बीजेपी को हिदुत्व के कार्ड पर है भरोसा

बीजेपी को जहां अपने पुराने और आजमाए हुए तरीके हिंदुत्व पर भरोसा है को वहीं राहुल गांधी भी लिंगायत की मठों में जाकर मत्था  टेक रहे हैं और सॉफ्ट हिदुत्व की वकालत कर रहे हैं। दोनों ही पार्टी दलितों के मुद्दे को भी जोर शोर से उठा रही हैंर कर्नाटक में  एससी/एसटी समुदाय के लोगों की संख्या राज्य में करीब 24 प्रतिशत है। ऐसे में दलित समुदाय के लोग सबसे ज्यादा हैं। कर्नाटक की 224 सीटों में से 36 एससी के लिए और 15 एसटी के लिए रिजर्व हैं।
जेडीएस का बीएसपी के साथ गठबंधन फिलहाल कांग्रेस की लिए चिंता की वजह बना हुआ है क्योंकि दलित वोटों को कांग्रेस अपना मानती रही है लेकिन जेडीएस और बीएसपी के गठबंधन ने सिद्धारमैया की नींद उड़ा दी है।

मुस्लिम वोट हो सकती है गेमचेंजर

राज्य में 12 प्रतिशत जनसंख्या मुस्लिमों की भी है। कांग्रेस पार्टी मुस्लिम समुदाय के ज्यादा करीबी मानी जा रही है। ऐसे में मुस्लिम नेताओं की कोशिश है कि हर जिले में एक विधान सभा क्षेत्र में मुस्लिमों को टिकट दिया जाए। एक कांग्रेस नेता ने बताया, ‘मुस्लिम वोटरों का ज्यादा संख्या में वोट करना गेम चेंजर का काम कर सकता है।

- Advertisement -

2 Comments
  1. scr888 download says

    The greatest variations occur on progressive slots. Don’t just play any
    machine, play the device that very best suited you. 1st is not get greedy and allow
    a a large amount before you stop. https://win88.today/scr888-download/

  2. 188bet says

    With a great eye and taste for delineation, you possibly can make an atmosphere impeccable for
    any exercises linked to feasting room. If this is an issue
    of yours too, then you certainly should learn regarding the best strategies to procure such things.
    As modern humanity exposes their tanned skin during
    vacations they like to show off their pictures in online
    community websites.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More