Thejantarmantar
Latest Hindi news , discuss, debate ,dissent

- Advertisement -

किसान ने लापता बेटी को छुड़ाने के लिए भैंस औऱ पत्नी की जेवर बेचकर दरोगा को दिए 40 हजार रिश्वत, वीडियो वायरल

495

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Advertisement -

यूपी – यूपी के सम्भल (Sambhal News) में पुलिस प्रशासन की रिश्वतखोरी का एक शर्मनाक मामला सामने आया हैं। जहां एक किसान अपनी लापता बेटी को पुलिस से छुड़ाने के लिए 40 हजार रूपए रिश्वत दिए हैं। जानकारी के मुताबिक किसान, 40 हजार रूपये का इंतजाम के लिए वह अपनी भैंस औऱ पत्नी की जेवर भी बेच दी, जिसके बाद दरोगा को वह रकम अदा कर पाया।

यह मामला पूरे जनपद में हंगामा मचा दिया हैं। एक दिन पहले ही जिला कलेक्ट्रेट में आयोजित महिला दिवस के प्रशासनिक कार्यक्रम में आएं क्षेत्रिय विधायक अजीत यादव ने डीएम -एसपी की जमकर फटकार लगाई हैं।

कार्यक्रम में आएं मुख्य अतिथी अजीत यादव ने कहा कि मेरे पैरवी के बावजूद पुलिस प्रशासन ने किसान से 40 हजार रूपये लिए, जिसके बाद मामले की कार्यवाही शुरू की, यह बेहद निंदनीय हैं।

विधायक अजीत यादव ने आगे कहा कि पुलिस प्रशासन के ऐसे कृत्य से ही सरकार की छवि खराब होती हैं। विधायक जब पुलिस प्रशासन की फटकार लगा रहे थे उस दौरान डीएम एसपी बगल में मौजूद थे।

बाद में कलैक्ट्रेट द्वारा एक प्रेस नोट जारी कर कहा गया कि बहजोई में अंतराष्ट्रीय महिला दिवस की गोष्ठी के दौरान माननीय विधायक गुन्नौर श्री अजीत यादव जी द्वारा एक मामला प्रकाश में लाया गया कि अपर्हता की बरामदगी हेतु विवेचक उपनिरीक्षक श्री योगराज सिंह ने पीड़ित से 30 हजार रूपए की मांग की इस आरोप के आधार पर उपनिरीक्षक का थाना गुन्नौर से स्थानांतरण कर दिया हैं।

- Advertisement -

- Advertisement -

बाद में Thejantarmantar.com से सम्भल पुलिस मामले पर सफाई देते हुए कहा कि इस पूरे प्रकरण में संलिप्त अधिकारियों पर कार्रवाई की जा रही हैं। साथ ही उपनिरीक्षक को थाना गुन्नौर से हटा दिया गया है, तथा प्रकरण की क्षेत्राधिकारी गुन्नौर द्वारा जांच की जा रही है।

इसे भी पढ़े

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत दिया इस्तीफा, ग्यारह बजे चुना जाएगा नया मुख्यमंत्री, अनिल बलूनी रेस में सबसे आगे

- Advertisement -

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More