Thejantarmantar
Latest Hindi news , discuss, debate ,dissent

- Advertisement -

तेजस्वी ने नीतीश के चरित्र पर उठाया सवाल – महिला विधायकों से बदतमीजी कर नीतीश कुमार को इंद्रीय रस प्राप्त हो रहा होगा। जदयू के नीरज कुमार ने दी शर्मनाक प्रतिक्रिया

239

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Advertisement -

पटना -बिहार विधानसभा में 23 मार्च को जो घटना घटित हुई वह ऐतिहासिक रहा। इससे पहले आपने इस तरह की घटना कभी नहीं देखी होगी। नए सशस्त्र पुलिस विधेयक, 2021 पर सदन से लेकर सड़क तक घमाशान मचा रहा। बाद में जंग सोशल मीडिया पर छिड़ गई।

कहा जाता है कि जंग में सब जायज है लेकिन इस हद तक? नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चरित्र पर ही सवाल उठा दिया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा है-‘ नीतीश कुमार को इंद्रीय रस प्राप्त हो रहा होगा, जब सदन में उनके गुंडे महिला विधायकों की साड़ी उतार उनके ब्लाउज में हाथ डाल रहे थे। मां-बहन की भद्दी-भद्दी गालियां देकर बाल पकड़ कर घसीटा जा रहा था। इस शर्मनाक घटना के बाद रात्रि में “निर्लज्ज कुमार” नृत्य-संगीत का आनंद उठा रहे थे।’

तेजस्वी के इस ट्वीट का जवाब नीतीश के नए साथी उपेंद्र कुशवाहा ने कड़े अंदाज में दिया। उपेंद्र कुशवाहा ने लिखा कि इस पोस्ट पर नीतीश कुमार की तरफ से नए साथी उपेंद्र कुशवाहा ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए लिखा-‘ सुन लो तेजस्वी हमने लगभग आजीवन लालू जी के विरोध में राजनीति की है। लेकिन, हमेशा ही उनको ललुआ कहने वाले को मुंहतोड़ जवाब दिया है। तुमको भी मेरी सलाह है अपनी कब्र मत खोदो, जबान पर लगाम रखो वरना 9वीं फेल कहने वालों को और मौका ही देते जाओगे।’

- Advertisement -

जनता के चुने गए माननीयों से जिस मर्यादित भाषा की अपेक्षा की जाती है, उस पर तेजस्वी तो खरा नहीं ही उतरे, प्रतिक्रया में जदयू के नीरज कुमार दो कदम और आगे बढ़ गए। उन्होंने तेजस्वी के पोस्ट पर प्रतिक्रया में कहा कि ‘ ये नेतागिरी नहीं नंगापन है। लगता है कि सम्मानित महिला विधायकों के बारे में ऐसा लिखते वक्त इस अपरिपक्व युवक ने सोमरस का सेवन कर रखा था।’

दैनिक भाष्कर के रिपोर्ट में छपी एक्टिविस्ट कंचना बाला ने विधानसभा में हुई घटना पर अपना तथ्य रखते हुए कहा कि जो कुछ बिहार विधानसभा में हुआ, वह बता रहा है कि आने वाले समय में बिहार का शासन कैसा होगा। सदन में कई बार विरोध हुआ है, लेकिन जो इस बार सदन में हुआ और पुलिस को बुलाया गया, वह नए पुलिस कानून की झांकी है। महिलाओं की सड़ियां खोल दी जाएंगी, सरेआम नंगा कर दिया जााएगा? आखिर नीतीश कुमार को हो क्या गया है? वे अपनी कुर्सी बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। इसके बाद नीतीश का भाषण और भी शर्मनाक रहा। पुलिस विधायकों को उठाकर फेंक रही थी। अपनी कुर्सी पर बने रहने के लिए कुछ भी कर देंगे। मार्शल से लोगों को निकलवाते। जूता से पिटवाया माननीय को। इससे नीचे और राजनीति क्या गिरेगी। सारी हदें पार हो गईं। महिलाओं के साथ विधानसभा में जो हुआ, वह काला दिन है। ऐसा कभी हम सोच भी नहीं सकते थे। हम सभी शर्मसार हो गए। औरत प्रतिनिधि के साथ जब ऐसा हो सकता है तो गरीब महिलाओं, रेप की शिकार महिलाओं के साथ कैसा सलूक होगा, यह सोचना डराता है।

- Advertisement -

इसे भी पढ़े

तेजस्वी यादव बोले – नरभक्षी शासकों ने जमकर पीटा कि एंबुलेंस लेकर जाना पड़ा, राहुल गांधी, अखिलेश यादव सभी भड़के

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More