Thejantarmantar
Latest Hindi news , discuss, debate ,dissent

- Advertisement -

बिहार- 10वीं और 12वीं की छात्रा को अर्धनग्न कर पीटा, डायन बताकर पूरे गांव में घुमाया, काट दिए सिर के बाल

291

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Advertisement -

बिहार – 21वीं सदी का भारत आज चांद और मंगल की निरंतर यात्रा कर रहा हैं। हम दिन प्रतिदिन प्रगति की नई उंचाईयों को छू रहे हैं। लेकिन समाज के कुछ हिस्से आज भी विकास की मुख्यधारा से अपरिचित हैं। उन क्षेत्रों की हालात ये हैं कि पूराने रीति रिवाज, तंत्र मंत्र, काला जादू औऱ अंधविश्वास को लोग आज भी पूजते हैं और आज भी डायन-बिसाही के नाम पर महिलाओं के साथ होने वाला अत्याचार हमें शर्म में डुबोने के लिए नाकाफी है।(Superstition in India)

Supersititon in india

इस समाज ने अंधविश्वास (Superstition in India) को भी एक अच्छे और बूरे विश्वासों में बांट दिया, इसकी चर्चा हम बाद में करेंगे, पहले जानिए बीते दिनों की एक शर्मनाक घटना-

बिहार, जमुई जिले के सिमुलतला थाना क्षेत्र में डायन के नाम पर अंधविश्वास में फंसकर गांव वालों ने मैट्रिक- इंटर में पढ़ रही दो छात्राओं के साथ ऐसी निर्ममता बरती गई जिसे सभ्य समाज के लोग इस घटना को शब्दों में बयां ना कर पाएं।

सिमुलतला थाने से मिली जानकारी के मुताबिक गादी टेलवा गांव में राकेश साह के पांच महीने के बेटे सत्यम की किन्हीं वजहों से मौत हो गई। बच्चे की अचानक मौत से घबराए परिजन उसे तांत्रिक के पास लेकर पहुंचे। तांत्रिक ने उन्हें बताया कि इस बच्चे की हत्या किसी गांव के किसी डायन ने की है। उसने सलाह दी कि बच्चे के शव को गांव के बाहर नदी के किनारे रेत में दबा दो। जिस डायन ने इसकी जान ली है वह जरूर उसे खाना खिलाने के लिए रात में वहां आएगी। बच्चे को दफनाने के बाद तांत्रिक की सलाह पर गांव के कुछ लोग उसकी निगरानी करने लगे।

- Advertisement -

ठीक उसी समय रात 12 बजे के बाद नदी किनारे दो लड़कियां जाती हुई दिखीं। लड़कियों को देखते ही गांव वालों ने उसे पकड़ लिया और बंधक बनाकर गांव ले आए। इसके बाद दफनाए गए बच्चे को भी निकालकर घर ले आया गया और दोनों लड़कियों पर दबाब बनाया जाने लगा कि वह इसे जिंदा करे। लड़कियों ने बताया कि वह बगल के गांव घांसीतरी की हैं और शौच करने नदी किनारे आई थीं। लेकिन बच्चे की मौत से आहत और तांत्रिक के फैलाए अंधविश्वास में पड़कर गांव वालों ने दोनों लड़कियों के कपड़े फाड़ दिए और बाल काट दिए। इसके बाद जिसे जो मिला उसी से दोनों लड़कियों की पिटाई शुरू कर दी। वह विनती करती रहीं कि उन्हें बच्चे की मौत के बारे में कुछ नहीं पता लेकिन एक ना सुनी गई और गांव वालों ने उसके शरीर के कई अंगों को भी काफी नुकसान पहुंचाया है।

(Superstition in India)

- Advertisement -

सूचना के बाद झाझा सर्किल इंस्पेक्टर सुशील कुमार सिंह दल बल के साथ गादी टेलवा गांव पहुंचे तो ग्रामीणों ने उन्हें खदेड़ दिया। इसके बाद SSB के जवानों की टीम बुलाकर दोनों लड़कियों को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाया गया। फिलहाल आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। पुलिस ने बताया कि दोनों लड़कियां चचेरी बहन हैं और एक मैट्रिक और दूसरी इंटर की छात्रा हैं।

इस समाज में अंधविश्वास भी अच्छे और बूरे स्तर से देखा गया हैं। आइये हम आपको कुछ अच्छे अंधविश्वास से मिलाते हैं। जिसे भारतीय समाज का लगभग हिस्सा इसे अच्छे से मानता हैं। जैसे कि

(Superstition in India)

  • नजर बट्टू
  • अनुष्ठान में एक रूपये जोड़ना शुभ हैं।
  • नदी में सिक्के फेंकना
  • पानी का गिराना
  • शुभ यात्रा
  • नारियल तोड़ना

(Superstition in India)
अब इनमें कुछ बूरे अंधविश्वास भी माना गया हैं।

  • जैसे सूर्य डूबने के बाद सफाई
  • कांच का टूटना
  • छिंकना तथा टोकना
  • रात में नाखून काटना

(Superstition in India)

इस तरह के अंधविश्वास घर – घर फैले हुए हैं। यह ज्यादा नुकशानदेह तो नहीं लेकिन इन्हीं रिवाजों में बढ़ती आस्था हीं तंत्र मंत्र की घटना को जन्म देता हैं।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More