Thejantarmantar
Latest Hindi news , discuss, debate ,dissent

- Advertisement -

परिसीमन के बाद होंगे जम्मू काश्मीर में विधानसभा चुनाव, PM ने काश्मीरी राजनेताओं को पूर्ण राज्य का दर्जा देने का भरोसा दिया, जानिए किसने क्या कहा..

274

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Advertisement -

नई दिल्ली – 05 अगस्त 2019 को काश्मीर से आर्टिकल 370 का खत्मा करने के साथ ही तमाम कश्मीरी नेताओं को नजरबंद किया गया जिसके बाद कई तरह के उठा -पटक की राजनीति के बाद आज पहली बार वह वक्त आया जिसमें काश्मीरी नेताओं और केन्द्र सरकार आमने – सामने बैठकर बातचीत की पहल की। काश्मीरी नेताओं के साथ केन्द्रीय आलाकमान की यह मुलाकात प्रधानमंत्री के नेतृत्व में प्रधानमंत्री आवास पर किया गया। यह बैठक करीब तीन घंटे तक चली।

Jammu Kashmir All party meeting

इस बैठक में जम्मू काश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला कांग्रेस के नेता व पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद, बीजेपी की नुमांइदगी करने के लिए पार्टी नेता और पूर्व उप-मुख्यमंत्री कविंद्र गुप्ता, निर्मल सिंह और रवींद्र रैना समेत 14 नेताओं ने हिस्सा लिया।

Jammu Kashmir All party meeting

जम्मू-कश्मीर के पूर्व डिप्टी सीएम और भाजपा नेता कवींदर गुप्ता ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के मामलों पर विस्तार से चर्चा हुई है। लगता ऐसा है कि परिसीमन के बाद जल्द ही चुनाव कराए जाएंगे। सभी नेता सामान्य तरीके से चुनाव चाहते हैं। प्रधानमंत्रीजी ने भरोसा दिलाया है कि हम जम्मू-कश्मीर के विकास पर काम करेंगे। गुप्ता ने बताया कि प्रधानमंत्रीजी ने कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग पर भी पूरा भरोसा नेताओं को दिलाया है।

- Advertisement -

Jammu Kashmir All party meeting

इस बैठक में कांग्रेस ने प्रधानमंत्री के सामने 5 मांगे रखी

बैठक खत्म होने के बाद बाहर निकले कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने बाताया हमने 5 बड़ी मांगे सरकार के सामने रखी हैं।

पहली: जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा जल्दी दिया जाना चाहिए। सदन के अंदर गृहमंत्री जी ने हमें आश्वासन दिया था कि राज्य का दर्जा वक्त आने पर बहाल किया जाएगा। हमने तर्क दिया कि अभी शांति है तो इससे ज्यादा अनुकूल वक्त नहीं हो सकता।

दूसरी: आप लोकतंत्र की मजबूती की बात करते हैं। पंचायत और जिला परिषद के चुनाव हुए हैं और ऐसे में विधानसभा के चुनाव भी तुरंत होने चाहिए।

तीसरी: केंद्र सरकार गारंटी दे कि हमारी जमीन की गारंटी और रोजगार की सुविधा हमारे पास रहे।

चौथी: कश्मीरी पंडित पिछले 30 साल से बाहर हैं, जम्मू-कश्मीर के हर दल की जिम्मेदारी है कि उन्हें वापस लाया जाए और उनका पुनर्वास कराया जाए।

पांचवीं: 5 अगस्त को राज्य के दो हिस्से किए थे। हमने इसका विरोध जताया।

- Advertisement -

बैठक के बाद जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी के अल्ताफ बुखारी ने कहा आज अच्छे माहौल में वार्ता हुई। सभी ने विस्तार से अपनी बात रखी है। पीएम और गृहमंत्री ने सबकी बाते सुनी। पीएम ने कहा कि डिलिमिटेशन की प्रक्रिया खत्म होने पर चुनाव प्रक्रिया शुरू होगी।

अल्ताफ बुखारी

सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने कहा कि राजनीतिक मतभेद होंगे लेकिन सभी को राष्ट्रहित में काम करना चाहिए ताकि जम्मू-कश्मीर के लोगों को फायदा हो। उन्होंने जोर देकर कहा कि जम्मू-कश्मीर में सभी के लिए सुरक्षा और सुरक्षा का माहौल सुनिश्चित करने की जरूरत है।

पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा..

बैठक से बाहर निकलने के बाद जम्मू काश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा कि मैंने बैठक में प्रधानमंत्री की प्रशंसा की और कहा कि आपने पाकिस्तान से बात कर सीज़फायर करवाया। घुसपैठ कम हुई यह अच्छी बात है। मैंने PM से कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों को पाकिस्तान से बात करने पर सुकून मिलता है तो आपको पाकिस्तान से बात करनी चाहिए

महबूबा मुफ्ती

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने कहा …

प्रधानमंत्री और गृह मंत्री अमित शाह ने बैठक में कहा कि हम चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्ज़ा जल्द से जल्द मिले और वहां पर चुनाव भी जल्द से जल्द करवाए जाएं

Umar Abdullah

 बैठक से निकलकर आई कुछ तस्वीरें…

Jammu Kashmir All party meeting

Jammu Kashmir All party meeting

Jammu Kashmir All party meeting

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More